An effort to spread Information about acadamics

Blog / Content Details

विषयवस्तु विवरण



ICT उपकरण कौनसे हैं? इनका डिजिटल लर्निंग (कक्षा शिक्षण) में कैसे उपयोग करें || लोकशिक्षण के आदेश

प्रदेश के हाई एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत Computer Lab, Interactieve Panel , Smart Class, Smart TV, Multimedia Projector, Tablet एवं अन्य ICT उपकरण विद्यमान हैं। इनका उपयोग एवं रखरखाव कैसे करें विस्तार से नीचे जानकारी दी गई है। यह जानकारी लोकशिक्षण संचनालय म.प्र. भोपाल के निर्देश में दी गई है।
निर्देश में कहा गया है कि कक्षा शिक्षण में आई.सी.टी. उपकरणों का उपयोग तथा विद्यार्थियों में डिजिटल लर्निंग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विद्यालय में उपलब्ध आई.टी. उपकरणों के बेहतर उपयोग किये जाने के संबंध में विद्यालय द्वारा निम्नानुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

1. कम्प्यूटर लैब (Computer Lab)

उत्कृष्ट विद्यालय तथा व्यावसायिक शिक्षा के अंतर्गत विद्यालय में कम्प्यूटर लैब स्थापित की गई है, इसके अतिरिक्त समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत चरणबद्ध तरीके से कम्प्यूटर लैब की स्थापना का कार्य प्रचलन में है, कम्प्यूटर लैब के संबंध में निम्नलिखित कार्य सुनिश्चित किए जाए।

(क) स्थानीय स्तर पर इंटरनेट कनेक्शन लिया जाए।
(ख) कम्प्यूटर लैब में स्थापित सभी कम्प्यूटर्स लेन (Local Area Network-LAN) के माध्यम से जुड़े हों जिससे प्रत्येक कम्प्यूटर में इन्टरनेट की सुविधा उपलब्ध हो सके तथा सरलता से डाटा फाइलों एवं प्रिन्टर, स्कैनर को साझा किया जा सकता है।
(ग) यदि लेन उपलब्ध नहीं हो तो स्थानीय स्तर पर लेन की व्यवस्था की जाये।

2. स्मार्ट टी. व्ही (Smart TV)

(क) समग्र शिक्षा अभियान के द्वारा स्मार्ट क्लास अंतर्गत विद्यालय में स्मार्ट टी.व्ही तथा लेपटॉप / डेस्कटॉप स्थापित किये गये हैं।
(ख) स्मार्ट टी.व्ही. में इन-बिल्ट सॉफ्टवेयर उपलब्ध होता है, जिसमें विभिन्न एप्लीकेशन यथा इन्टरनेट ब्राउजर, मल्टीमीडिया प्लेयर इत्यादि उपलब्ध रहते है।
(ग) शिक्षक अपने विषय से संबंधित वीडियो को यू-ट्यूब / अन्य शैक्षणिक चैनल से डाऊनलोड कर एक्सटर्नल हार्डडिस्क / पेनड्राईव में स्टोर करें।
(घ) टी. व्ही. में यू.एस.बी. पोर्ट होते है, जिसमे पेन ड्राईव में उपलब्ध विषय से संबंधित वीडियो को दिखा सकते हैं। इस पर पढ़ाये गये पाठों का विद्यार्थी के मस्तिष्क पर अच्छा प्रभाव पड़ता है।
(ङ) एन.सी.ई.आर.टी.ई. के शैक्षणिक टी.व्ही. चैनल स्वयंप्रभा को टी.व्ही. पर देखने की व्यवस्था करें। चैनल में उपलब्ध शैक्षणिक पाठ के लिये आपको डिस्क ऐन्टीना लगवाना होगी जिसे स्थानीय स्तर पर लगवाया जाए। इस संबंध में विस्तृत जानकारी www.swayamprabha.gov.in पर उपलब्ध है।
(च) विद्यालय में एक एक्सर्टनल हार्डडिस्क क्रय की जाए। हार्डडिस्क में विभिन्न विषयों के वीडियों तथा अन्य डिजीटल सामग्री को स्टोर किया जाए।

3. इन्टरैक्टिव पेनल (Interactieve Panel)

(क) इन्टरैक्टिव पेनल एक एल.ई.डी. पेनल होता है, यह एक इंटरैक्टिव डिस्प्ले पेनल है, जिसमें स्क्रीन को स्पर्श के माध्यम से उपयोग किया जाता है।
(ख) इंटरैक्टिव पेनल में इन-बिल्ट कम्प्यूटर प्रोसेसर तथा हार्डडिस्क होती है जो किसी कम्प्यूटर से कनेक्ट हो सकता है। देखकर, सुनकर बातचीत करके विषय से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
(ग) इन्टरेक्टिव पेनल के स्क्रीन पर हाईलाइटिंग एवं ड्राइंग और लिखने के लिये एक विशेष पेन का उपयोग करके डाटा को संशोधित किया जा सकता है।
(घ) शिक्षक विषय को रचनात्मक बनाने हेतु विभिन्न प्रकार के वीडियो प्रदर्शित कर सकते हैं, जैसे फोटो, ग्राफ, नक्शा, लेख आदि।

4. टैबलेट (Tablet)

(क) समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत प्रदायित टैबलेट को शिक्षकों द्वारा नियमित उपयोग किया जाये।
(ख) कक्षा में जाने के पूर्व टैबलेट को फुल चार्ज करें।
(ग) टैबलेट को वाई-फाई या सेलुलर नेटवर्क पर इन्टरनेट से कनेक्ट करें।
(घ) टैबलेट पर दीक्षा एप्प के द्वारा पुस्तकों को डाउनलोड करें।
(ङ) टैबलेट के माध्यम से ई-पाठ्य पुस्तकों का उपयोग करें। इसके अतिरिक्त टैबलेट में स्पीकर होते हैं, जो ऑडियो बुक या टैक्स्ट-टू-स्पीच ई बुक्स को सरलता से सुनने की सुविधा का उपयोग करें।
(च) टैबलेट पर यू-ट्यूब की सहायता से लर्निंग मटेरियल / वीडियो डाउनलोड कर सकते है।
(छ) विभिन्न विषयों से संबंधित शैक्षिक गेम, प्रश्नोत्तरी आदि का उपयोग करें।
(ज) एजूकेशन पोर्टल, विमर्श पोर्टल में शिक्षक और बच्चों के लिये उपलब्ध सेवाओं का उपयोग करें।
(झ) टेबलेट का उपयोग प्रथमतः विज्ञान, गणित विषय के शिक्षकों द्वारा उपयोग किया जाए एवं आवश्यकतानुसार अन्य विषय के शिक्षक भी उपयोग करेंगे।
(ञ) विद्यालय के स्थानीय मद में उपलब्ध राशि से सिम को रिचार्ज कराया जाए।

5. मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर (Multimedia Projector)

(क) कक्षा शिक्षण में वीडियो को प्रदर्शित करने के लिये मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर का उपयोग किया जाए।
(ख) विद्यार्थियों के बड़े समूह में प्रभावी शिक्षण किया जा सकता है।
(ग) सी.सी.एल.ई. के अंतर्गत साप्ताहिक बाल सभा इत्यादि में प्राजेक्टर का उपयोग किया जाए।

6. ICT उपकरणों का कक्षा शिक्षण में उपयोग (Use of ICT Tools in Classroom Teaching)

क्रमांक 1-5 में उल्लेखित उपकरणों का शिक्षण में उपयोग सुनिश्चित करने के लिये प्राचार्य द्वारा निम्नानुसार कार्यवाही की जाए -
(क) विद्यालय द्वारा निर्धारित समय सारिणी में प्रतिदिन / प्रति कालखण्ड विषय से संबंधित शिक्षण कार्य में ICT संसाधनों का समुचित उपयोग किया जाए।
(ख) कक्षा 9-12 के लिये कम्प्यूटर लिट्रेसी हेतु कंप्यूटर्स की उपलब्धतानुसार कालखण्ड में प्रावधान किया जाए।
(ग) संचालनालय लोक शिक्षण के यू-ट्यूब चैनल विमर्श में उपलब्ध वीडियो को कक्षा शिक्षण में उपयोग किए जाए। इसके अतिरिक्त अन्य शैक्षणिक चैनल यथा स्वयंप्रभा दूरदर्शन, दीक्षा में उपलब्ध डिजीटल पाठ्य सामग्री एवं लर्निंग मटेरियल का उपयोग किया जाये। इन वीडियों को डाऊनलोड कर हार्डडिस्क / पेनड्राईव में सेव किया जाए।
(घ) कम्प्यूटर लेब के उपयोग हेतु विद्यार्थियों के क्लासवार बैच एवं विषयवार तैयार किये जायें।
(ङ) आई.टी. कार्य में दक्ष शिक्षक अपने ई-लर्निंग मटेरियल को मैप आई.टी. द्वारा तैयार LMS (लर्निंग मैनेजमेन्ट सिस्टम) पर अपलोड करें।
(च) विषय शिक्षक ई-लर्निंग हेतु नवीन पाठ्य सामग्री तैयार करें।
(छ) शिक्षण से संबंधित विभिन्न पोर्टल जैसे दीक्षा, निष्ठा आदि का उपयोग कर पठन-पाठन को आकर्षक बनाएंँ।

7. विद्युत आपूर्ति (Power Supply)

(क) विद्युत वोल्टेज में उतार चढ़ाव आई.सी.टी. उपकरणों के खराब होने का प्रमुख कारण होता है। अतः सुचारू रूप से स्थिर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाये उचित क्षमता का विद्युत कनेक्शन होना चाहिये, उसमें अर्थिंग अवश्य करानी चाहिये।
(ख) समय- समय पर यू.पी.एस. की बैटरी चेक करते रहना चाहिये बैटरियों ठीक से चार्ज हो रही हैं।
(ग) स्विच एवं प्लग ढीले नहीं होना चाहिये एवं केबल को सही तरीके से लगाएँ, जिससे स्पार्किंग नहीं हो।

8. उपकरणों का रखरखाव (Equipment Maintenance)

(क) कक्ष में साफ-सफाई प्रतिदिन की जाये। कम्यूटर / सी.पी. यू. को पर्याप्त हवा न मिलने से अधिक गर्मी के कारण उपकरण खराब हो सकते है अतः कम्प्यूटर दीवार से सटाकर नहीं रखें। नमी वाली जगह एवं दीवारों की सीलन से भी उपकरणों को दूर रखें।
(ख) विद्यालय में खराब उपकरणों को स्थानीय स्तर पर रिपेयर कराकर कार्यशील अवस्था में लाया जाए। रिपेयर हेतु आना वाला व्यय स्थानीयमद / समग्र शिक्षा अभियान में उपलब्ध राशि से किया जाए।

9. उपकरणों सुरक्षा (Equipment Safety)

उपकरणों की सुरक्षा का विशेष ध्यान दिया जाए। कक्ष जिसमें उपकरण स्थापित है, उसमें खिडकी दरवाजे तथा लॉकिंग (इंटरलॉक इत्यादि) की उचित व्यवस्था हो।

10. संचालित स्थिति ICT उपकरण (Running Position of ICT Equipment)

विद्यालय में उपलब्ध ICT उपकरण संचालित स्थिति में होना चाहिए। प्राचार्य सुनिश्चित करें कि इन उपकरण का उपयोग कक्षा शिक्षण में किया जाए। यदि किसी विद्यालय में उपकरण बन्द स्थिति अथवा कक्षा शिक्षण में उपयोग नहीं किये जाने की स्थिति में संबंधित प्राचार्य के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में स्थापित आई.टी. सेल के समन्वयक / सहा समन्वयक द्वारा प्रत्येक विद्यालय में स्थापित आई.सी.टी. उपकरणों की सतत मॉनिटरिंग की जाए। जिला कार्यालय में ICT से संबंधित सामग्री / डिजीटल कन्टेंट की रिपोजेटरी भी तैयार की जाए। अच्छे कार्य कर रहे विद्यालय के कार्यों को प्रदर्शित किया जाए जिससे अन्य विद्यालय अनुसरण कर बेहतर कार्य करें। जिला शिक्षा अधिकारी प्राचार्य की मासिक समीक्षा बैठक में उक्त विषय को स्थाई-एजेण्डा के रूप में शामिल करें।

इस 👇 बारे में भी जानें।
Email और Gmail में क्या अन्तर है

इस 👇 बारे में भी जानें।
लॉकडाउन क्या है? इसके लाभ और हानि

इस 👇 बारे में भी जानें।
मोगली की कहानी- मोगली लैण्ड सिवनी

इस 👇 बारे में भी जानें।
एतिहासिक पर्यटन स्थल- आष्टा का महाकाली मंदिर

इस 👇 बारे में भी जानें।
मध्य प्रदेश के प्रमुख स्थल एवं उनकी प्रसिद्धि के कारण

इस 👇 बारे में भी जानें।
उम्मीदवारों (अभ्यर्थियों) के लिए आदर्श आचरण संहिता के मुख्य बिन्दु।

इस 👇 बारे में भी जानें।
विश्व साइकिल दिवस 3 जून

इस 👇 बारे में भी जानें।
SC एवं ST वर्ग में सम्मिलित जातियाँ

इस 👇 बारे में भी जानें।
म.प्र. की जातियाँ एवं उनके परम्परागत व्यवसाय (काम-धन्धे) - पिछड़ा वर्ग संवर्ग

इस 👇 बारे में भी जानें।
स्कूलों में विद्यार्थी सुरक्षा आदेश

I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
infosrf.com


Watch related information below
(संबंधित जानकारी नीचे देखें।)



  • Share on :

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सत्र 2024-25 में बच्चों का मासिक मूल्यांकन प्रक्रिया एवं प्रश्नपत्रों का ब्लूप्रिंट

इस लेख में सत्र 2024-25 में कक्षा 1 से 8 तक के विद्यार्थियों के मासिक मूल्यांकन की प्रक्रिया एवं प्रश्न पत्र के ब्लूप्रिंट के संबंध में जानकारी दी गई है।

Read more

तीन चरणों में होगा 'स्कूल चलें हम' अभियान | प्रथम चरण के कार्यक्रम की सम्पूर्ण जानकारी | School Chalen Ham Abhiyaan

इस लेख में स्कूल चलें हम अभियान 2024-25 से के प्रथम चरण के संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश यहाँ दिए गए हैं।

Read more

NILP MP mobile app online survey process || विशेष सर्वे अभियान उल्लास नवभारत साक्षरता कार्यक्रम

इस लेख में उल्लास नवभारत साक्षरता कार्यक्रम के अंतर्गत विशेष सर्वे अभियान की जानकारी के संदर्भ में राज्य शिक्षा केंद्र के दिशा निर्देशों एवं सर्वे करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी गई है।

Read more

Follow us

Catagories

subscribe