An effort to spread Information about acadamics

Blog / Content Details

विषयवस्तु विवरण



हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम (OAS)] || 11 अक्टूबर से शिक्षकों एवं विद्यार्थियों की शत-प्रतिशत उपस्थिति एप्प लगाने के निर्देश

हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम (OAS) के संबंध में राज्य शिक्षा केन्द्र के द्वारा दिशा निर्देश जारी किए गए हैं, जिसका विवरण इस प्रकार है -

म.प्र. में शिक्षा के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत शाला जाने योग्य बच्चों का -
(1) शाला में नामांकन
(2) शाला में उपस्थिति एवं
(3) गुणवत्ता युक्त शिक्षा

प्रदाय करने का प्रावधान है।
वर्तमान में म.प्र. शासन के द्वारा शिक्षा को प्राथमिकता में लेते हुये अध्ययनरत बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता में उपलब्धि हेतु सतत प्रयास किये जा रहें हैं। अध्ययनरत बच्चों में गुणवत्ता उपलब्धि के लिये यह आवश्यक है कि बच्चे शाला में नियमित रूप से उपस्थित हो। वर्तमान में शाला में आने वाले बच्चों की दैनिक उपस्थिति की मॉनिटरिंग हेतु कोई व्यवस्था नहीं है। अतः विभाग द्वारा एक ऐसा तंत्र विकसित किया गया है, जिससे छात्रों की राज्य, जिला एवं विकासखंड स्तर पर दैनिक मॉनिटरिंग की जा सके। इस सिस्टम को हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम के नाम से जाना जायेगा। इस सिस्टम के मुख्य बिन्दु निम्नानुसार है -

1. उददेश्य

(क) छात्रों की दैनिक उपस्थिति हेतु सिस्टम विकसित कर छात्रों की औसत उपस्थिति सुनिश्चित करते हुये गुणवत्ता युक्त शिक्षा को प्रभावी बनाना।
(ख) कमजोर उपस्थिति वाले छात्रों की जानकारी एकत्रित कर कारणों का अध्ययन करते हुये युक्तियुक्त समाधान तैयार करना।
(ग) मॉनिटरिंग तंत्र को प्रभावी एवं उत्तरदायी बनाना।

2. प्रक्रिया

(क) विभाग द्वारा हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम के लिये मोबाईल एप्प तैयार किया गया है।
(ख) एम-शिक्षामित्र एप्प को प्लेस्टोर से डाउनलोड / अपडेट करके हाज़री मॉडयूल के माध्यम से शाला के प्रधानाध्यापक / संस्था प्रभारी बच्चों / शिक्षकों की उपस्थिति दर्ज कर सकेगें।
(ग) उस स्कूल में पदस्थ शिक्षकों एवं प्रधानाध्यापक की जानकारी HRMIS से उपलब्ध होगी।
(घ) एप्प में शालावार कर्मचारियों को जोड़ने या हटाने के लिये DDO से संर्पक कर जानकारी अपडेट की जा सकेगी।
(ङ) प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों में समान्यतः मोबाईल नेटवर्क की उपलब्धता नहीं होने के कारण मोबाईल एप्प को इस तरह डिजाईन किया गया है जिससे इसे ऑफलाईन उपयोग किया जा सके यूजर नेटवर्क एरिया में आने पर डेटा स्वतः अपलोड हो सकेगा।

3. एप्प के माध्यम से दैनिक रूप से की जाने वाली गतिविधियाँ

(क) शाला के प्रधानाध्यापक शाला में पदस्थ शिक्षक एवं बच्चों प्रतिदिन हाज़री मॉडयूल एप्प के माध्यम से शाला प्रारंभ होने के एक घंटे के अन्दर छात्रों की उपस्थिति दर्ज करेगे। इससे बच्चों की शाला में प्रतिदिन उपस्थिति ज्ञात हो सकेगी।
(ख) शायं 05 बजे के बाद बच्चों की उपस्थिति दर्ज नहीं की जा सकेगी।
(ग) एप्प पर कक्षावार शाला में दर्ज बच्चों की जानकारी समग्र शिक्षा पोर्टल पर दर्ज नामांकन अनुसार उपलब्ध होगी।

4. मोबाईल एप्प की उपयोगिता

(क) हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम का डेस बोर्ड अलग से होगा जिससे प्रतिदिन साप्ताहिक एवं मासिक उपस्थिति का जिलेवार, विकासखंडवार, संकूलवार डेटा प्राप्त कर उसकी समीक्षा करते हुये कमजोर उपस्थिति वाले जिलों / विकासखंडों के लिये प्रभावी निर्णय लिये जा सकेंगे।
(ख) कमजोर उपस्थिति वाली शालाओं को चिन्हित कर शिक्षा विभाग के क्षेत्रीय अधिकारियों एवं स्थानीय निकायों के सहयोग से उपस्थिति बढ़ाने हेतु प्रयास किये जा सकेंगे।
(ग) उपस्थिति के आधार पर गुणवत्ता युक्त शिक्षा की उपलब्धि स्तर का भी विश्लेषण किया जा सकेगा।
(घ) दैनिक उपस्थिति के आधार पर मध्याह्न भोजन योजना की भी प्रभावी मॉनिटरिंग की जा सकेगी।

राज्य शिक्षा केन्द्र के पत्र क्रं./राशिके/ईएण्डआर / एसएएस-2022-23/4914 दिनांक 26/8/2022 से सत्र 2022-23 के लिये दिनांक 29.08.2022 से जिला शाजापुर, छिंदवाड़ा एवं बड़वानी जिले में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में यह व्यवस्था शुरु की गई थी। जो कि अत्यधिक सफल रही। अतः समस्त जिले म०प्र० शाला के प्रधानाध्यापक/संस्था प्रभारी दिनांक 11/10/2022 से प्रतिदिन विद्यालय में पदस्थ शिक्षक एवं छात्रों की शत-प्रतिशत उपस्थिति एप्प के माध्यम से जानकारी दर्ज कराना सुनिश्चित करें।

नीचे राज्य शिक्षा केन्द्र के दिशा निर्देश का अवलोकन करें।

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. कर्मचारियों/शिक्षकों के सेवा काल की प्रमुख तिथियाँ
2. मध्यप्रदेश वेतन पुनरीक्षण नियम, 2017" के नियम किन कर्मचारियों पर लागू नहीं होते।
3. मप्र राज्य कर्मचारी गृहभाड़ा भत्ते की दरें।
4. शासकीय पत्रों एवं राजकाज में प्रयुक्त कठिन पारिभाषिक शब्दों के अर्थ
5. शिक्षा सत्र 2022 23 की गतिविधियां आर. एस. के. निर्देश
6. जानिए आपके जिले की शिक्षा के क्षेत्र में क्या है रैंकिंग
7. शिक्षकों की वरिष्ठता कब प्रभावित होती है
8. कर्मचारियों के लिए आदर्श आचरण संहिता के मुख्य बिंदु।
9. Date of birth (जन्मतिथि) अंग्रेजी शब्दों में कैसे लिखें।
10. विद्यालय Udise कैसे भरें
11. शासकीय कर्मचारियों को अनुकंपा नियुक्ति के अलावा मिलने वाली सुविधाएँ।
12. अशासकीय विद्यालय में क्रीड़ा शुल्क केवल 40% भाग रहेगा- निर्देश
13. मध्य प्रदेश योग आयोग का गठन

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1.मिशन अंकुर के लक्ष्य
2. स्कूल रेडीनेस क्या है, इसके घटक
3. साक्षरता क्या है? इसके सही मायने
4. साक्षरता विकास के घटक - मौखिक साक्षरता विकास
5. विभागीय जाँच निलम्बन एवं निलम्बन से बहाली प्रक्रिया
6. मोटर कारों पर तिरंगा फहराने का विशेषाधिकार किन्हें है?
7. समयमान वेतन एवं क्रमोन्नत वेतनमान
8. न्यू पेंशन स्कीम नियमावली।
9. पेंशन से आशय।
10. अवकाश के प्रकार एवं अवकाश हेतु पात्रता।

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. नियुक्ति में प्राथमिकता एवं आयु सीमा में छूट
2. विद्यालयों में शिक्षक छात्र अनुपात
3. कर्मचारियों हेतु गृह भाड़ा भत्ता से संबंधित संपूर्ण जानकारी।
4. एकीकृत शाला निधि (Composite school grant) वर्ष 2022-23
5. एण्डलाइन टेस्ट 2022_23 महत्वपूर्ण बिंदु।
6. अनुकंपा नियुक्ति के लिए पात्रता एवं अपात्रता
7. स्थानान्तरण नीति 2022

I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
infosrf.com

Watch video for related information
(संबंधित जानकारी के लिए नीचे दिये गए विडियो को देखें।)

Watch related information below
(संबंधित जानकारी नीचे देखें।)





  • Share on :

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

स्कूलों व शासकीय कार्यालयों में इन 9 नेताओं की तस्वीरें लगाने के पूर्व आदेश || Orders to put up pictures of leaders in schools.

इस लेख में स्कूलों व शासकीय कार्यालयों में इन 9 नेताओं की तस्वीरें लगाने के पूर्व आदेशों की जानकारी दी गई है।

Read more

जिनका 6500-10500 वेतनमान है वे हैं राजपत्रित अधिकारी || प्रधानाध्यापक राजपत्रित अधिकारी || राज्य की लोक सेवाओं का वर्गीकरण

इस लेख में राज्य की लोक सेवाओं का वर्गीकरण के अन्तर्गत 6500-10500 वेतनमान वाले राजपत्रित अधिकारी हैं, साथ ही प्रधानाध्यापक राजपत्रित अधिकारी हैं की जानकारी दी गई है।

Read more

Follow us

Catagories

subscribe